A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Trying to get property 'primary_font' of non-object

Filename: models/Settings_model.php

Line Number: 345

Backtrace:

File: /home/371803.cloudwaysapps.com/vktemsbadr/public_html/application/models/Settings_model.php
Line: 345
Function: _error_handler

File: /home/371803.cloudwaysapps.com/vktemsbadr/public_html/application/core/Core_Controller.php
Line: 69
Function: get_selected_fonts

File: /home/371803.cloudwaysapps.com/vktemsbadr/public_html/application/core/Core_Controller.php
Line: 115
Function: __construct

File: /home/371803.cloudwaysapps.com/vktemsbadr/public_html/application/controllers/Home_controller.php
Line: 8
Function: __construct

File: /home/371803.cloudwaysapps.com/vktemsbadr/public_html/index.php
Line: 332
Function: require_once

Memorandum To Save The Greenery Of Bhopal Under SmartCity Project -
login register

Search

Memorandum To Save The Greenery Of Bhopal Under SmartCity Project

Memorandum To Save The Greenery Of Bhopal Under SmartCity Project
स्मार्टसिटी प्रोजेक्ट के तहत पर्यावरण को हुए नुकसान की भरपाई की मांग को लेकर पर्यावरण बचाओ आंदोलन के सदस्यों द्वारा सीईओ आदित्य सिंह को ज्ञापन सौंपा गया। भोपाल की हरियाली को सुरक्षित रखने की दिशा में कार्य कर रहे सामाजिक कार्यकर्ता शरद सिंह कुमरे ने विकास कार्यों के दौरान भोपाल में व्यापक पैमाने पर हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए इस दौरान आदित्य सिंह के साथ चर्चा भी की।

शरद सिंह कुमरे ने Agnito Today के साथ चर्चा करते हुए बताया कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में वर्षों पुराने पेड़ों को काटा गया है। वहीं कुछ पेड़ों को अन्यत्र शिफ्ट किया जा रहा, लेकिन उनके जीवित बचने की संभावना बहुत कम है, क्योंकि उनकी शिफ्टिंग सही तरीके से नहीं की गई है। इसलिए यह आवश्यक है कि शहर की हरियाली को बचाने और बढ़ाने के लिए सामाजिक संस्थाओं के साथ मिलकर सरकार प्लानिंग के साथ काम करे।
यह भी पढ़ें : भोपाल की एक तिहाई आबादी पी रही सीवेज मिला पानी, कैग की रिपोर्ट में खुलासा

इन सभी मुद्दों पर पर्यावरण बचाओ आंदोलन से जुड़े 8 सदस्यीय समिति द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों के साथ शहर की हरियाली सुरक्षित रखने को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया। इस मौके पर डॉ. पद्माकर त्रिपाठी, आनंद पटेल, विवेक सक्सेना, अशोक चौरसिया, रमेश बंजारी, रामकुमार विद्यार्थी और रेखा सिंह भी विशेष रूप से उपस्थित थे।

About author